Home / BJP Press Release / कांग्रेस में अकेले लड़ने की हिम्मत नहीं, इसलिए कभी सपा, कभी बसपा के पास दौड़ रही: मुख्यमंत्री
thumbnail-1

कांग्रेस में अकेले लड़ने की हिम्मत नहीं, इसलिए कभी सपा, कभी बसपा के पास दौड़ रही: मुख्यमंत्री

सीहोर जिले के ग्रामीण क्षेत्रों में पहुंची मुख्यमंत्री की जन आशीर्वाद यात्रा रेहटी

बनेगा मिनी स्मार्ट सिटी, चिखल्दी में होंगे 116 करोड़ के निर्माण कार्य

रेहटी/नसरुल्लागंज। कांग्रेस में अकेले के दम पर चुनाव लड़ने की हिम्मत नहीं है। इसीलिए वह गठबंधन के लिए कभी सपा के पास दौड़ लगाती है, तो कभी बसपा की तरफ। यह बात मुख्यमंत्री श्री शिवराजसिंह चौहान ने जन आशीर्वाद यात्रा के दौरान सीहोर जिले के रेहटी में आयोजित सभा में कही। मुख्यमंत्री रेहटी से जुड़ी बातों को याद करके भावुक हो उठे। उन्होंने सभा में उपस्थित लोगों को संबोधित करते हुए कहा कि चैथी बार भी प्रदेश में भाजपा की सरकार आपके आशीर्वाद से ही बनेगी। मुख्यमंत्री ने यहां कई घोषणाएं कीं।

मुख्यमंत्री श्री शिवराजसिंह चौहान की जन आशीर्वाद यात्रा गुरुवार को सीहोर जिले के रहटी पहुंची। उन्होंने यात्रा की शुरुआत सलकनपुर स्थित मां बीजासन के मंदिर में माथा टेककर की। रहटी पहुंचने पर मुख्यमंत्री का जबरदस्त स्वागत हुआ। मुख्यमंत्री के स्वागत के लिए सड़कों पर भीड़ उमड़ पड़ी। मकानों की छतों और छज्जों से लोगों ने फूल बरसाकर मुख्यमंत्री का स्वागत किया। मुख्यमंत्री का स्वागत करने वालों में बड़ी संख्या में महिलाएं और बच्चे भी शामिल थे।

राजनीति का पाठ रेहटी से सीखा

रेहटी की जनता द्वारा किए गए आत्मीय स्वागत से अभिभूत होकर मुख्यमंत्री ने कहा कि मैंने राजनीति का पाठ रहटी से ही सीखा है और आज जो कुछ भी हूं, रहटी की जनता की बदौलत हूं। मुख्यमंत्री ने कहा कि आपके आशीर्वाद से ही मैं तीन बार मुख्यमंत्री बना हूं और आपके ही आशीर्वाद से चौथी बार भी प्रदेश में भाजपा की सरकार बनेगी। मुख्यमंत्री ने रहटी से जुड़ी अपनी यादों को ताजा करते हुए कहा कि रहटी में ही हम लोग आंदोलन किया करते थे। जनसंघ के नेता डॉ. अनूपसिंह जी और भागीरथ भैया के साथ गांव-गांव घूमे और संगठन का काम खड़ा किया। सभा के दौरान स्थानीय लोगों ने आपस में मिलकर एकत्रित की गई सम्मान निधि की थैली मुख्यमंत्री को भेंट की।

मेरी हर सांस जनता के लिए चली है

सभा के दौरान मुख्यमंत्री ने कहा कि मेरी हर सांस जनता के लिए चली है और मैं जनता के लिए काम करता रहूंगा। उन्होंने कहा कि आईआईटी हो या आईआईएम, हर जगह बच्चों की फीस उनके मां- बाप को नहीं भरना पड़ेगी, बल्कि उनका शिवराज मामा भरेगा। मुख्यमंत्री ने रहटी को मिनी स्मार्ट सिटी बनाने की घोषणा करते हुए कहा कि रहटी को अत्याधुनिक क्षेत्र बनाएंगे और हर गांव को जोड़ने का काम करेंगे।

उन्होंने कहा कि मैंने जनता से 4 साल का टाइम मांगा है, अगले 4 सालों में किसी की झोपड़िया नहीं रहेंगी। प्रदेश का गरीब अब मजबूर नहीं रहेगा, बल्कि मजबूत होगा। हर गरीब को पक्का मकान देने का काम हम करेंगे। मुख्यमंत्री ने ग्राम चिखल्दी में नर्मदा पर पक्के घाट और तट संरक्षण के काम के लिए 116 करोड़ के निर्माण कार्यों की घोषणा की। इसके अलावा एक आदिवासी भवन बनाने का भी काम होगा। अंचल के ग्राम लवाखेड़ा में मुख्यमंत्री ने प्रदेश में पेट्रोल-डीजल से 2.5 रुपए वैट कम करने की घोषणा की। उन्होंने कहा कि केंद्र सरकार ने 2.5 रुपए कम किए हैं, हम भी 2.5 रुपए कम करेंगे ताकि प्रदेश की जनता को 5 रुपए की राहत मिल सके।

दिग्विजयी कांग्रेस अब समझौता कांग्रेस बनी

रेहटी और आदिवासी अंचल के अन्य गांवों में सभाओं को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि एक समय पर दिग्विजयी रही कांग्रेस अब समझौता कांग्रेस बन गई है। वह समझौते के लिए कभी सपा की की ओर, तो कभी बसपा की ओर दौड़ती है, क्योंकि अकेले चुनाव लड़ने की उसकी हैसियत नहीं रही। मुख्यमंत्री ने कहा कि मैंने पिछले 14 वर्षों में लगातार, दिन-रात ईमानदारी से जनता की सेवा की है। आपके नाम को ऊंचा करने का काम किया है। इसीलिए मैं कांग्रेस नेताओं की आखों में कांटों की तरह चुभने लगा हूँ। इन नेताओं को दिन और रात सपने में भी शिवराज नजर आता है। यह चाहते हैं कि कैसे भी शिवराज को हटायें, लेकिन मेरे सिर पर प्रदेश की सवा सात करोड़ जनता का आशीर्वाद है।

रिमझिम बारिश में आदिवासियों संग झूमे मुख्यमंत्री

यात्रा के दौरान हर जगह मुख्यमंत्री का आत्मीय स्वागत किया गया। रहटी से लेकर आदिवासी अंचल के गांवों तक में लोग रिमझिम बारिश में मुख्यमंत्री के स्वागत के लिए खड़े रहे। कहीं उन पर फूल बरसाए, तो कहीं मुख्यमंत्री की आरती उतारी। निपानिया गांव में ग्रामीणों ने मुख्यमंत्री को अपने कंधे पर बिठा लिया। चतरकोटा गांव में लोगों ने परंपरागत लोकनृत्य से मुख्यमंत्री का स्वागत किया। आदिवासियों ने जब मुख्यमंत्री से उनके साथ आने का आग्रह किया, तो मुख्यमंत्री खुद को रोक न सके। मुख्यमंत्री श्री शिवराजसिंह और उनकी पत्नी श्रीमती साधना सिंह रिमझिम बारिश के बीच आदिवासियों के साथ देर तक झूमते रहे।

Check Also

thumbnail-1

समृद्ध मध्यप्रदेश के लिए डॉ. सहस्त्रबुद्धे ने मांगे सुझाव

भोपाल। मुख्यमंत्री श्री शिवराजसिंह चौहान ने पंचायतों के माध्यम से हर वर्ग के सुझावों को …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *