Home / BJP Press Release / (ग्रंथालय एवं प्रलेखन विभाग का प्रशिक्षण वर्ग) नूतन और पुरातन को सहेजने का काम ग्रंथालय एवं प्रलेखन विभाग का: चौहान
_dsc8815

(ग्रंथालय एवं प्रलेखन विभाग का प्रशिक्षण वर्ग) नूतन और पुरातन को सहेजने का काम ग्रंथालय एवं प्रलेखन विभाग का: चौहान

हमारी प्रतिबद्धता समाज का गुणात्मक विकास है: भगत

भोपाल। भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष व सांसद श्री नंदकुमारसिंह चौहान ने कहा कि किसी भी देश का इतिहास और प्रामाणिकता समाज जीवन को प्रेरणा देती है। आधुनिकता में भले ही दूसरे देश आगे हो लेकिन गौरवशाली अतीत में भारत का एक अपना अलग स्थान है। पूरे इतिहास पर नजर डाले तो एक नहीं अनेक ऐसी घटनाएं है जिन्हें हम आज भी स्मरण करते है तो हममे उर्जा का संचार होता है। आने वाले समय में हमारे पुराने डाॅक्यूमेंट (दस्तावेज) ही हमारी ताकत होंगे। इस दृष्टि से राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री अमित शाह ने ग्रंथालय एवं प्रलेखन विभाग का गठन किया है। हमारी विचारधारा को संग्रहित करने का काम इस विभाग को करना है। नूतन और पुरातन को सहेजने का काम ग्रंथालय एवं प्रलेखन विभाग का है। यह बात श्री चौहान ने आज प्रदेश कार्यालयपं. दीनदयाल परिसर में आयोजित प्रदेश स्तरीय प्रशिक्षण वर्ग का उदघाटन करते हुए कही।

                श्री चौहान ने कहा कि हमारे वेद और पुराण दुनिया के सबसे पुराने दस्तावेज है। इन्होंने समाज में जनजागरण का काम किया है। हम जिस विचारधारा के लिए काम करते है उससे जुड़े अतीत की घटनाओं और चित्रों को सहेजने का काम हमें करना है ताकि आने वाली युवा पीढ़ी जनसंघ से भारतीय जनता पार्टी की गौरवशाली यात्रा को पहचान सके। उन्होंने कहा कि संगठन में कोई भी कार्य छोटा और बड़ा नहीं होता है। आप लोग अपने सुविचारों और संस्कारों से दुनिया बदलने के लिए निकले हैं। आप सुविचारों से लोगों को अनुप्राणित करें।

                प्रशिक्षण वर्ग के समापन सत्र को संबोधित करते हुए भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश संगठन महामंत्री श्री सुहास भगत ने कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में भारतीय जनता पार्टी नीत एनडीए सरकार ने सबका साथसबका विकास मिशन आरंभ किया है। सबका साथ जहाॅ संख्यात्मक विकास का संकेत हैसबका विकास राष्ट्र के गुणात्मक विकास का प्रतीक है। भारतीय जनता पार्टी विश्व का सबसे बड़ा संगठन है जिसकी सदस्य संख्या 11 करोड़ से अधिक हैलेकिन हमारी प्रतिबद्धता समाज के गुणात्मकता में अभिवृद्धि करना होना चाहिए।

                श्री सुहास भगत ने प्रलेखन एवं ग्रंथालय विभाग के कार्यों में उत्कृष्टता लाने के लिए हर जिले में विशेषज्ञता प्राप्त कार्यकर्ताओं की टोली तैयार करने का आग्रह किया है। उन्होंने कहा कि जिलों में कार्यकर्ता निरन्तर सजग रहकर घटनाओं को मोबाइल के केमरा से लेखबंद्ध करें। घटनाओं और वृत्तों के संग्रह और संरक्षण पर बल दिया जाना चाहिए। उन्होंने कहा कि जब हम क्षेत्र में जनता से संवाद करेंगे हमें इतिहास की कड़ियां मिलेगी। चाहे ये कड़ियां प्रिंट में हो अथवा चित्रों में हो इनका निरपेक्ष भाव से संग्रह करना है। उन्होंने कहा कि हर चित्र और दृश्य घटनाओं को व्यक्त करता है। इसलिए यहां बुद्धि विवेक से काम लेना होगा। यह इतिहास के गढ़ने की प्रक्रिया होती है।    

                श्री भगत ने कहा कि प्रलेखन एवं ग्रंथालय विभाग के कार्यकर्ता अपने-अपने स्थानो पर अध्ययन के प्रति रूझान पैदा करने के लिए वाचनालयों का विस्तार करें। ग्रंथ और पुस्तकों के प्रति जनता में रूचि पैदा करें। संस्कृति और संस्कारों के संरक्षण के लिए ग्रंथों से सरोकार जोड़ना समय की मांग है। क्योंकि ग्रंथों के माध्यम से ही संस्कृति और परम्पराओं का संरक्षण होता है। ग्रंथ संस्कृति को शाश्वत बनाये रखने में शक्ति और संसाधन केन्द्रित करें। पूर्व में प्रलेखन एवं ग्रंथालय विभाग के प्रदेश संयोजक श्री अनिल सप्रे ने अतिथियों का स्वागत करते हुए विभाग के संरचनात्मक विकास के बारे में अवगत कराया। विभाग के केन्द्रीय कार्यकारिणी सदस्य श्री कृष्णा सिंहश्री अनूप कुमार ने ूूूण्कपहपजंसइरचण्पद का प्रशिक्षण दिया।

                इस अवसर पर श्री नीरज प्रधानश्री आशीष राणेश्री सुशीलसुश्री भक्ति शर्मा सहित प्रकोष्ठ के पदाधिकारी एवं संगठनात्मक जिलों के जिला संयोजक उपस्थित थे।

Check Also

nandu-bhaiya

विदेशी निवेश से रोजगार के द्वार खुलेंगेः चौहान

भोपाल। भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष व सांसद श्री नंदकुमारसिंह चौहान ने विदेशी निवेश …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *