Home / BJP Press Release / दवा उद्योग में पारदर्शिता से मरीजों का शोषण रूकेगाः डॉ. भारद्वाज
BJP MP

दवा उद्योग में पारदर्शिता से मरीजों का शोषण रूकेगाः डॉ. भारद्वाज

                भोपाल। भारतीय जनता पार्टी चिकित्सा प्रकोष्ठ के प्रदेश संयोजक डॉ. लक्ष्य भारद्वाज ने कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने चिकित्सा क्षेत्र में जनोन्मुखी सुधारों को उच्च प्राथमिकता देते हुए गंभीर रोगों के उपचार में काम आने वाली दवाओं और उपकरणों के दामों में भारी कटौती सुनिश्चित की है। इसका नतीजा है कि हृदय रोग के उपचार में काम आने वाले स्टेंट की कीमत आम आदमी की पहुँच में आ गयी है। पहले जो स्टेंट 1 लाख से 80 हजार रूपए में आता था उसकी कीमत घटकर 40 हजार रूपए से 30 हजार रूपए के आसपास हो गयी है।

                उन्होंने कहा कि इसी पहल के सिलसिले में केन्द्रीय दवा मानक नियंत्रण संगठन ने ड्रग एंड कास्मेटिक्स एक्ट के नियम 96 में संशोधन करने का प्रस्ताव किया है। डाॅ. भारद्वाज ने बताया कि इस प्रावधान के अनुसार अब दवा निर्माता दामों में कमी करेंगे और उन्हें पारदर्शिता के हित में दवा का लागत मूल्य और एमआरपी लिखना अनिवार्य हो जायेगा। लागत मूल्य और एमआरपी को देखते हुए ग्राहक मूल्य भुगतान में कटौती कर सकेंगे।

                डॉ. भारद्वाज ने बताया कि केन्द्र सरकार पहले ही 700 दवाईयों के मूल्य निर्धारित कर चुकी है तथापि चिकित्सा जगत के विशेषज्ञों को संदेह है कि 634 दवाईयों के दाम लागत से कई गुना अधिक है। सरकार दवा मूल्य का युक्ति युक्तकरण करने की हामी है। फिलहाल दवा के पैकेट पर विवरण अंकित करते हुए कभी भी दवा का लागत मूल्य अंकित नहीं किया जाता है। जिससे दवा उद्योग भारी मुनाफा कमाता है। दवा उद्योग के ना नुकर के बीच मोदी सरकार दवा का लागत मूल्य अंकित किए जाने की पक्षधर है जिससे रूग्ण मानवता का सबसे बड़ा उपकार होगा।

Check Also

bhawantar-yojnae

मुख्यमंत्री भावांतर भुगतान योजना अन्नदाता बंधुओं के लिए सुरक्षा कवच: रावत

                भोपाल। भारतीय जनता पार्टी किसान मोर्चा के प्रदेश अध्यक्ष श्री रणवीर सिंह रावत ने प्रदेश …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *