Home / BJP Press Release / सहकारिता आंदोलन के माध्यम से गांव गांव में मजबूत ताना बाना खड़ा करें सहकारिता प्रकोष्ठ – नंदकुमारसिंह चौहान सहकारिता प्रकोष्ठ का निचले स्तर तक गठन कर पार्टी का विस्तार करें – सुहास भगत
jvd_6275

सहकारिता आंदोलन के माध्यम से गांव गांव में मजबूत ताना बाना खड़ा करें सहकारिता प्रकोष्ठ – नंदकुमारसिंह चौहान सहकारिता प्रकोष्ठ का निचले स्तर तक गठन कर पार्टी का विस्तार करें – सुहास भगत

             jvd_6266

भोपाल। भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष व सांसद श्री नंदकुमारसिंह चौहान ने कहा कि देश में जहां जहां सहकारिता आंदोलन फला है वह राज्य समृद्ध राज्यों की श्रेणी में शुमार हुआ है। कर्नाटक, महाराष्ट्र और गुजरात इसका प्रत्यक्ष उदाहरण है। मुख्यमंत्री श्री शिवराजसिंह चौहान के नेतृत्व में मध्यप्रदेश में सहकारिता के क्षेत्र में नए आयाम स्थापित किए है। उन्होंने कहा कि सहकारिता आंदोलन के माध्यम से गांव गांव में मजबूत ताना बाना खड़ा करने का काम सहकारिता प्रकोष्ठ को करना है इसलिए पार्टी ने सहकारिता क्षेत्र में विशेष अनुभव रखने वाले सहकारिता नेता श्री नेमीचन्द जैन को इस प्रकोष्ठ की बागडोर सौंपी है। श्री चौहान यहां प्रदेश कार्यालय पं. दीनदयाल परिसर में सहकारिता प्रकोष्ठ के नवमनोनीत प्रदेश संयोजक श्री नेमीचन्द जैन के कार्यभार ग्रहण कार्यक्रम को संबोधित कर रहे थे। कार्यक्रम को प्रदेश संगठन महामंत्री श्री सुहास भगत, सहकारिता मंत्री श्री विश्वास सारंग, प्रदेश महामंत्री व सांसद श्री मनोहर ऊंटवाल ने भी संबोधित किया।

                श्री नंदकुमारसिंह चौहान ने कहा कि श्री शिवराजसिंह चौहान के मुख्यमंत्री बनने के पूर्व मध्यप्रदेश में सहकारिता आंदोलन की रफ्तार धीमी थी। सहकारिता आंदोलन को मुख्यमंत्री श्री शिवराजसिंह चैहान ने सेवा का माध्यम माना और मुख्यमंत्री ने सहकारिता आंदोलन को गति देने के लिए विश्वास सारंग को विभाग सौंपा है। संगठन ने सहकारिता प्रकोष्ठ की बागडोर श्री नेमीचन्द जैन को सौंपी है। आने वाले दिनों में पूरे मध्यप्रदेश में सहकारिता चुनाव होने वाले है। उन्होंने आशा व्यक्त करते हुए कहा कि श्री सारंग और जैन मिलकर पूरे मध्यप्रदेश में सहकारिता के ढांचे को और मजबूत करने का काम करेंगे। उन्होंने कहा कि सहकारिता ऐसा क्षेत्र है जिसके माध्यम से समाज की सेवा की जा सकती है। भारतीय जनता पार्टी का विचार अंत्योदय है। पं. दीनदयाल उपाध्याय ने समाज के अंतिम पंक्ति के अंतिम व्यक्ति की सेवा के रूप में हमें अंत्योदय का विचार दिया है। सहकारिता के माध्यम से हम अंत्योदय के विचार को साकार करने का प्रयास करें।

                उन्होंने कहा कि हमें मुख्यमंत्री के रूप में श्री शिवराजसिंह चौहान जैसा विजनरी नेता मिला है। जिन्होंने मध्यप्रदेश में आमूलचूल परिवर्तन कर बीमारू राज्य की श्रेणी से उभारकर प्रगतिशील राज्य की श्रेणी में पहुंचाने का काम किया है। मुख्यमंत्री के विजन और किसानों की मेहनत के बदौलत मध्यप्रदेश पांचवी बार कृषि कर्मण अवार्ड हासिल करेगा यह हमारे लिए गर्व की बात है।

                श्री सुहास भगत ने कहा कि सहकारिता प्रकोष्ठ ऐसा प्रकोष्ठ है जो गांव गांव तक फैला हुआ है। इस वर्ष के अंत तक सोसायटियों के चुनाव होना है। इसको दृष्टिगत रखते हुए सहकारिता प्रकोष्ठ का गठन निचले स्तर तक करें। उन्होंने कहा कि बिना सहकार नहीं उद्धार इस नारे के साथ सरकार और संगठन मिलकर सहकारिता आंदोलन को आगे बढ़ाने का काम करें। उन्होंने आशा व्यक्त करते हुए कहा कि निचले स्तर तक प्रकोष्ठ का गठन और प्रवास के माध्यम से जहां जहां सहकारिता आंदोलन चल रहा है उन्हें भी हम अपने विचार से जोड़ने का काम करें। श्री भगत ने कहा कि मध्यप्रदेश सरकार सहकारिता के माध्यम से गरीब कल्याण का काम कर रही है। हम मिलकर सरकार की योजनाओं को नीचे तक पहुंचाने में अपनी भूमिका निभाएं।               

Check Also

jvd_1550

संतों और राष्ट्रीय अध्यक्ष के आगमन पर इंद्रदेव भी अमृत वृष्टि कर रहे: शिवराज सिंह चौहान

भाजपा राष्ट्रवाद और संस्कृति के उन्नयन के लिए कृत संकल्प : अमित शाह                 भोपाल। मुख्यमंत्री श्री शिवराज …